HomeBollywoodसंजय दत्त का छलका दर्द, बताया जब कैंसर के बारे में पता...

संजय दत्त का छलका दर्द, बताया जब कैंसर के बारे में पता चला था तो खूब निकले थे उनके आंसू

-


बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त (Sanjay Dutt) उस समय कैंसर (cancer) जैसी खतरनाक बीमारी का शिकार थे, जिस वक्त देशभर में लॉकडाउन लगा हुआ था. हालांकि एक्टर अब पूरी तरह से ठीक हैं. ऐसे में संजय दत्त ने अब ये बताया है कि उन्होंने कैंसर का सामना कैसे किया और जब पहली बार उन्हें इस बारे में पता चला था, तब उनका रिएक्शन कैसा था. उन्होंने बताया कि कैंसर का पता चलने पर वह घंटों तक फूट-फूटकर रोए थे, क्योंकि उन्हें अपनी लाइफ और फैमिली की चिंता सता रही थी, लेकिन फिर उन्होंने मजबूती के साथ इस बीमारी से जंग लड़ी और स्क्रीन पर वापसी भी की.

सजंय दत्त अगस्त 2020 में स्टेज 4 लंग कैंसर से पीड़ित हुए थे. यूट्यूबर रणवीर अलहाबादिया के साथ बातचीत में संजय ने कहा, “वो लॉकडाउन का समय था. एक दिन सीढ़ियां चढ़ते समय मुझे सांस लेने में दिक्कत होने लगी. जब मैं नहाया तो भी मुझे सांस लेने में परेशानी हो रही थी. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि ये क्या हो रहा है, इसलिए मैंने अपने डॉक्टर को कॉल किया. इसके बाद मेरे एक्स-रे हुए तो पता चला कि मेरे आधे से ज्यादा फेफड़ों में पानी भरा हुआ है. डॉक्टरों को ये पानी निकालना था. उस समय सबको लगा कि ये टीबी हो सकता है, लेकिन वो कैंसर निकला.”

संजय दत्त को बहन ने बताया था कि उन्हें कैंसर है
संजय दत्त ने आगे कहा कि “मुझे कैंसर है, ये बात मुझे बताना भी एक बड़ा मुद्दा था, क्योंकि जो भी मुझे बताता, तो मैं शायद उसका मुंह तोड़ देता, लेकिन तब मेरी बहन मेरे पास आई और मुझसे बोली कि ‘तुम्हें कैंसर हो गया है, अब क्या करें?’ इसके बाद सब इस बारे में बात करने लगे कि अब क्या किया जा सकता है, लेकिन मुझे उस समय अपने बच्चों, पत्नी और जिंदगी की चिंता सता रही थी. उनके बारे में सोच-सोचकर कर मैं दो-तीन घंटों तक खूब रोया, फिर उसके बाद मैंने सोचा कि ‘नहीं, मैं कमजोर नहीं पड़ सकता.”

‘US का वीजा नहीं मिलने पर भारत में ही कराया इलाज’
एक्टर ने कहा कि “इसके बाद हमने अमेरिका जाकर इसका इलाज कराने के बारे में सोचा था, लेकिन वीजा नहीं मिला. तब मैंने भारत में ही इलाज कराने का फैसला किया. राकेश रोशन ने मुझे एक डॉक्टर के बारे में बताया. इसके बाद जब उन डॉक्टर से मेरी मुलाकात हुई तो उन्होंने मुझसे कहा कि ‘आपको उल्टी होगी, साथ ही सिर के बाल भी उड़ जाएंगे और भी बहुत कुछ होगा. इस पर मैंने डॉक्टर से कहा कि ‘मेरे साथ ऐसा कुछ नहीं होगा.’ मेरी ये बात सुनकर डॉक्टर को भी हंसी आ गई थी.”

‘कैंसर से डरने की नहीं, डटकर सामना करने की जरूरत’
संजय दत्त ने आगे बताया कि “कैंसर से लड़ने के लिए उससे डरने की नहीं, बल्कि उसका डटकर सामना करने की जरूरत होती है. मैं कीमोथेरेपी के लिए दुबई जाता था और फिर बैडमिंटन कोर्ट जाकर दो-तीन घंटे खेला करता था. कीमोथेरेपी के बाद मुझे रोजाना एक घंटा साइकल चलाने के लिए भी कहा गया था. अब मैं पूरी तरह कैंसर फ्री हूं.” संजय दत्त की लेटेस्ट फिल्म ‘केजीएफ चैप्टर 2’ हाल ही में रिलीज हुई है, जिसका निर्देशन प्रशांत नील द्वारा किया गया है. इस फिल्म में उन्होंने ‘अधीरा’ का की भूमिका निभाई है.

Tags: Sanjay dutt



Source link

Taufique Zafarhttps://khabarheekhabar.com
My name is Taufique Zafar, I send latest news, government news bollywood news and today's latest news on khabarheekhabar.com, I am a resident of Araria district of Bihar.

Related articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,331FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest posts