HomeBollywoodकंगना रनौत ने 'हिंदी विवाद' पर दिया रिएक्शन, बोलीं- 'संस्कृत हमारी राष्ट्रीय...

कंगना रनौत ने ‘हिंदी विवाद’ पर दिया रिएक्शन, बोलीं- ‘संस्कृत हमारी राष्ट्रीय भाषा होनी चाहिए’

-


बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन और कन्नड़ स्टार किच्चा सुदीप के बीच हुई राष्ट्रभाषा को लेकर बहस और सुलह ने एक नई विवाद को जन्म दिया. दोनों के बीच ‘हिंदी’ बतौर राष्ट्रभाषा को लेकर बहस हुई थी. आम आदमी से लेकर, नेता और अभिनेता भी इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया दे रही है कि हिंदी भारत की राष्ट्रीय भाषा है या नहीं. अब इस पर एक्ट्रेस कंगना रनौत ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने अपनी अपकमिंग फिल्म ‘धाकड़’ के ट्रेलर लॉन्च इवेंट पर इसके बारे में बात करते हुए ‘संस्कृत’ राष्ट्रभाषा में शामिल करने की बात कही है.

कंगना रनौत कहा भारत एक विविधता से भरा राष्ट्र है. उन्होंने कहा,“हम (सिस्टम और सोसायटी) बहुत सारी विविधताओं, भाषाओं और संस्कृतियों का देश हैं. और अपनी-अपनी संस्कृति और भाषा पर गर्व महसूस करना हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है. मैं एक पहाड़ी हूं. हालांकि, जब हम अपने राष्ट्र पर विचार करते हैं, तो इसे एक इकाई बनाने के लिए, हमें हम सभी को एक साथ जोड़ने के लिए एक धागे की आवश्यकता होती है. जब संविधान बनाया गया था, हिंदी एक राष्ट्रभाषा बन गई थी. ”

कंगना रनौत आगे कहती हैं, “और अब जब आप कहते हैं कि तमिल सच में हिंदी से पुरानी है, तो यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि ‘संस्कृत’ उससे भी पुरानी है. मेरी राय में, संस्कृत हमारी राष्ट्रभाषा होनी चाहिए, क्योंकि कन्नड़, तमिल, गुजराती, हिंदी, इन सभी भाषाओं की उत्पत्ति संस्कृत से हुई है. मेरे पास इसका जवाब नहीं है अगर आप मुझसे पूछें कि अगर ऐसा है तो संस्कृत को हिंदी के बजाय हमारी राष्ट्रीय भाषा क्यों नहीं बनाया गया. वे निर्णय एक निश्चित समय के दौरान किए गए होंगे.”

कंगना रनौत ने आगे कहा, “इस मुद्दे की कई परतें हैं. और जब आप भाषा की बात कर रहे हों, तो आपको इन सभी परतों के बारे में पता होना चाहिए. जब आप हिंदी को नकारते हैं, तो आप दिल्ली के संविधान और सरकार को नकार रहे हैं. जब आप विदेश जाते हैं, तो जर्मन, स्पेनिश, फ्रेंच – उन्हें अपनी भाषा पर बहुत गर्व होता है. लेकिन औपनिवेशिक इतिहास कितना भी काला क्यों न हो, सौभाग्य से, या दुर्भाग्य से, अंग्रेजी वह कड़ी बन गई है. दुनिया के सभी हिस्सी के लोगों को जोड़ती है.”

कंगना रनौत ने जोर देकर कहा, “आज हमारे देश में भी हम कम्युनिकेशन के लिए एक कड़ी के रूप में अंग्रेजी का इस्तेमाल कर रहे हैं. क्या वह लिंक होना चाहिए? या हिंदी, संस्कृत, या तमिल वह कड़ी होनी चाहिए? यह हमें तय करना है. हमें वह फैसला करना है. अभी तक हिन्दी राष्ट्रभाषा है. और जब अजय देवगन जी ने कहा, हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है, तो वह गलत नहीं हैं. लेकिन मैं सुदीप की भावना को समझती हूं और वह गलत भी नहीं हैं.”

Tags: Kangana Ranaut



Source link

Taufique Zafarhttps://khabarheekhabar.com
My name is Taufique Zafar, I send latest news, government news bollywood news and today's latest news on khabarheekhabar.com, I am a resident of Araria district of Bihar.

Related articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,331FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest posts